बेसिक शिक्षा मंच का राज्य स्तरीय कार्यक्रम 12-13 दिसम्बर 2014

बेसिक शिक्षा मंच का राज्य स्तरीय कार्यक्रम 12-13 दिसम्बर 2014

जिला शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान (डायट), लखनऊ

सभी बच्चों के शिक्षा हक को सुनिश्चित कराने और शिक्षा अधिकार कानून को हकीकत बनाने हेतु हम सभी विद्यालय प्रबंध समिति को सक्षम बनाने का बड़ा दायित्व निभा रहे हैं। इससे हीं सामाजिक व आर्थिक रूप से वंचित परिवारों के बच्चों को बेहतर स्कूली शिक्षा मिल सकेगा और वे विकास की मुख्यधारा में जुड़ सकेंगें।

शिक्षा अधिकार कानून लागू हुए पांच वर्ष होने वाले हैं। कानून में कहा गया है कि सरकार को 2015 तक स्कूल के मानक पूरा कर लेना है। लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है। शिक्षा हक हरेक बच्चे को मिल पाए, इसके लिए विद्यालय प्रबंध समिति की महत्वपूर्ण भूमिका है। सरकार द्वारा विद्यालय प्रबंध समिति की सक्षमता के लिए जो प्रयास हो रहे हैं, उसे प्रभावी बनाने की जरूरत है। फिर 2015 में विद्यालय प्रबंध समिति का पुनः गठन होना है। गठन जनतांत्रिक व पारदर्शी तरीके से हो पाये इसके लिए सरकार व तंत्र के स्तर पर अभी से तैयारी की जरूरत है। विद्यालय प्रबंध समिति की प्रभावी प्रशिक्षण के साथ समितियों की आपस में सीखने की ऐसी व्यवस्था बनाने की जरूरत है जो उन्हें निरंतर आगे बढ़ने में मददगार हो। इसके लिए सरकार क्या करे और सरकार के सहयोग में संस्थाओं द्वारा कैसे मदद की जाए, इन सब के लिए सरकार को राय देने और उसकी पैरवी करने की जरूरत है।

बेसिक शिक्षा मंच का पिछला राज्य स्तरीय कार्यक्रम फरवरी में, लोकसभा चुनाव 2014 के दौरान किया गया था। बेसिक शिक्षा राजनीतिक मुद्दा बने व राजनीतिक दल संवेदित हों, इसके लिए मागों के मसौदे को लेकर उत्तर प्रदेश में अभियान चलाया गया था। अब आगे उपरोक्त के संदर्भ में बेसिक शिक्षा मंच का राज्य स्तरीय कार्यक्रम दिनांक 12-13 दिसम्बर 2014 को जिला शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान (विद्याभवन के पीछे), निशातगंज, लखनऊ में आयोजित किया जा रहा है।

 

रूपरेखा

प्रथम दिवस 12 दिसम्बर 2014
समय विषय विवरण
10.00 पंजीकरण व नाश्ता
11.00 स्वागत, परिचय, कार्यक्रम व व्यवस्था के बारे में
11.40 बेसिक शिक्षा मंच के अब तक के प्रयास और आगामी पैरवी की जरूरतों को बताना
12.00 शिक्षा अधिकार कानून के क्रियान्वयन में विद्यालय प्रबंध समिति का महत्व व भूमिकाविद्यालय प्रबंध समिति के गठन, इनकी मासिक बैठक व समिति की सक्षमता हेतु विभागीय प्रशिक्षण की स्थिति की शेयरिंग (रीज़नवाइज)।
2.30 ड्राफ्ट मांगों के मसौदे को फाइनल करना।
3.30 सम्बन्धित कार्यालय में जा कर ज्ञापन सौंपना – सचिव बेसिक शिक्षा, निदेशक बेसिक शिक्षा, निदेशक सर्व शिक्षा अभियान, बेसिक शिक्षामंत्री।
5.00 कार्यालयों में मसौदा देने के समय किये गये संवाद, अनुभवों की शेयरिंग।
द्वितीय दिवस 13 दिसम्बर 2014
9.30 पिछले दिन के काम का पुनरावलोकन।
11.00 विद्यालय प्रबंध समिति का पुनर्गठन, प्रशिक्षण और अभिभावक मंच उभारने के संस्थागत प्रयासों को समझना और बेहतर प्रयास की तैयारी करना।अभिभावक समिति की पुस्तिका को समूह में पढ़ना व चर्चा करना।
1.00 कानून के क्रियान्वयन में जिला बेसिक शिक्षा मंच की मजबूती व पहल की स्थिति को समझना, आगे की योजना बनाना (पैरवी, प्रकाषन, एस.एम.सी. के प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण, आदि। रीजनवाइज समूह में)।
2.30 कार्यक्रम का समेकन व समापन। धन्यवाद।

शिक्षा व्यवस्था की बेहतरी के संदर्भ में बेसिक शिक्षा मंच का सुझाव, दिसम्बर 2014

बेसिक शिक्षा मंच सरकार से अपेक्षा करता है कि स्कूल शिक्षा की बेहतरी के लिए एक व्यापक बदलाव की दीर्घगामी रणनीति बनाया जाए। सिर्फ निगरानी से कुछ भी उम्मीद नहीं की जा सकती है। इस प्रयास में अभिभावकों और शिक्षकों को साझा प्रयास करने और उनके प्रयासों में समुचित सहयोग की व्यवस्था बनाने की जरूरत है।

शिक्षकों के नियुक्ति के लिए सरकार का प्रयास तो हो रहा है परन्तु यह पर्याप्त नहीं है। शिक्षकों के समायोजन की जरूरत है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि किस प्रकार शिक्षकों को सक्षम और उत्साही किया जाए। जब षिक्षक बच्चों के सीख स्तर को नही बढ़ा पाते है तो निराष होकर बच्चों और अभिभावकों को ही दोषी मानने लगते हैं। षिक्षकगण स्कूल व संकुल स्तर पर आपस में राय-मषविरा कर अपनी क्षमता व मनोबल बढ़ा सकते है। इस प्रकार हरेक स्कूल के सक्रिय होने की सम्भावना बनेगी, जो कि सफल हो पाने के हरेक पहल के लिए सरकार के आदेष का इंतजार न करता हो।

पिछले साल प्रदेश में विद्यालय प्रबंध समितियों का गठन पहले से बेहतर तरीके से हो पाया है। इससे स्कूलों की बेहतरी की काफी संभावना बन सकती थी यदि विद्यालय प्रबंध समितियों के सभी सदस्यों का समय और बेहतर प्रशिक्षण हो गया होता। यदि शिक्षकों को समुचित सलाह व सहयोग देकर विद्यालय प्रबंध समिति की नियमित मासिक बैठक करवाया गया होता। माननीय शिक्षा मंत्री, वरिष्ठ अधिकारी स्वयं विद्यालय प्रबंध समिति के मासिक बैठकों, प्रशिक्षणों में शामिल होकर इसकी महत्ता बढ़ाये होते।

शिक्षा व्यवस्था की बेहतरी के संदर्भ में बेसिक शिक्षा मंच का सुझाव, दिसम्बर 2014

Conception & Work of Basic Shiksha Manch